जयपुर:- रीट परीक्षा की तैयारी कर रहे प्रदेश के 10 लाख से अधिक बेरोजगारों को करना होगा और इंतजार, रीट भर्ती परीक्षा अब 2021 में ही होने की संभावना अधिक नजर आ रही है, रीट में 2 पेपर की जगह 1 पेपर ही होगा | पढ़े पूरी खबर

0

रीट के 10 लाख अभ्यर्थियों को करना होगा इंतजार-परीक्षा अब 2021 में होने की संभावना अधिक?

जयपुर:- रीट परीक्षा की तैयारी कर रहे प्रदेश के 10 लाख से अधिक बेरोजगारों को करना होगा और इंतजार, रीट भर्ती परीक्षा अब 2021 में ही होने की संभावना अधिक नजर आ रही है, रीट में 2 पेपर की जगह 1 पेपर ही होगा |

अशोक गहलोत (राजस्थान सरकार) द्वारा दिसम्बर 2019 में रीट की नई भर्ती करने के लिए 31 हजार पदों की घोषणा की थी |

लेकिन यह भर्ती अभी तक नहीं हो पाई है | प्रदेश के करीब 10 लाख से अधिक बेरोजगार युवाओं को और अधिक इंतजार करना पद सकता है | इससे पहले प्रदेश के शिक्षा मंत्री श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा था, कि हमारी सरकार रीट परीक्षा 2 सितम्बर 2020 को आयोजित करवाएगी | लेकिन उसके बाद कोरोना महामारी की वजह बता कर परीक्षा को आगे बढ़ा दिया गया है |

राजस्थान सरकार कोरोना में अन्य परीक्षाएं आयोजित करवा सकती है, तो रीट की विज्ञप्ति जारी करने में क्या परेशानी आ रही है | सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक रीट परीक्षा इस साल में होना संभव नहीं है | भर्ती परीक्षा के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इस पेज को आखिर तक जरूर पढ़े |

रीट परीक्षा 2021 में ही संभव होगी-
राजस्थान प्रदेश के 10 लाख से अधिक बेरोजगारों युवाओं को रीट परीक्षा के लिए करना होगा इंतजार | प्रदेश की सरकार ने दिसम्बर 2019 में रीट भर्ती की घोषणा की थी | लेकिन आज आठ माह से अधिक समय बीतने के बाद भी रीट की विज्ञप्ति जारी नहीं हो पाई है |

इससे आप अनुमान लगा सकते है,कि रीट परीक्षा इस साल में हो जाएगी या फिर अगली साल के लिए इंतजार करना होगा | प्रदेश के शिक्षा मंत्री ने पहले कहा था, कि रीट परीक्षा हर हाल में 02 सितम्बर 2020 को ही आयोजित करवाई जाएगी | इसको लेकर मंत्री जी कई बार उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की थी | लेकिन कोई उचित समाधान नहीं निकल सका |

रीट परीक्षा लेवल 2 के पाठ्यक्रम में बदलाव किया जाना था | लेकिन ना तो पाठ्यक्रम जारी हो पाया और ना ही रीट की विज्ञप्ति जारी हो सकी है | पहले कोरोना का बहाना बना लिया गया था और बाद में भाजपा के षडयंड का बहाना बनाकर भर्ती प्रक्रिया को आगे बढ़ा दिया गया है | इससे प्रदेश के बेरोजगारों को परीक्षा को लेकर और अधिक इंतजार करना पड़ेगा | अगर रीट की विज्ञप्ति सितम्बर माह में अंतिम सप्ताह में भी जारी होती है, तो परीक्षा इस साल में होना संभव नहीं है |

2 की जगह 1 ही पेपर होगा रीट परीक्षा में-
अभी कुछ समय पहले समाचार पत्रों में रीट परीक्षा के बारे में सूचना प्रकाशित हुई थी | जिसमे बताया गया था, कि रीट परीक्षा को लेकर तैयारियां की जा रही है | इस बार रीट परीक्षा में 2 की जगह 1 की पेपर होने की संभावना है |

इसी के साथ एक और सूचना जारी हुई थी, कि राजस्थान प्रदेश की सभी भर्तियों में राज्य के युवाओं को ही शामिल करने का मसौदा लाएगी राज्य सरकार | इसके लिए जल्द ही कार्मिक विभाग के पास प्रस्ताव भेजा जायेगा | प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद राज्य में सभी सरकारी भर्तियों में स्थानीय युवाओं को ही प्राथमिकता दी जाएगी |

सरकारी नौकरी में अब स्थानीय युवाओं को प्राथमिकता दी जाएगी-कार्मिक विभाग को भेजा प्रस्ताव रीट परीक्षा 2018 दूसरी वेटिंग लिस्ट जारी होगी
अगर यह प्रस्ताव जल्द ही पास हो जाता है, तो इसको रीट परीक्षा में भी लागु किया जा सकता है | इससे राज्य के स्थानीय युवाओं को अधिक लाभ मिलेगा | इसके अलावा राज्य सरकार रीट भर्ती 2018 के लिए भी वेटिंग लिस्ट जारी करेगी | जिसके माध्यम से रीट के करीब 3 हजार रिक्त पदों को भरा जायेगा | इससे प्रदेश के स्कूलों में नए शिक्षकों की नियुक्ति का रास्ता साफ हो सकेगा |

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें